<< Back

Thangka

थांगका

थांगका, तिब्बती  बौद्ध  चित्रकला  है  जो  सूती  अथवा  रेशमी  कपडे  पर  की  जाती  है । सामान्यत: थांगका  तीन  प्रकार  के  होते  है । एक, जो  बुद्ध  एवं  बोधिसत्वों  के  जीवन  से  सम्बन्धित  जानकारी  प्रदान  करते  हैं । दूसरे, जिनमें  बौद्ध  दर्शन  की  अभिव्यक्ति  मिलती  है  और  तीसरे, जिनका  प्रयोग  ध्यान  की  क्रिया  करने  में  अथवा  पूजा - प्रार्थना  करने  के  माध्यम  के  रूप  में  किया  जाता  है ।

Leave a comment

      Refresh
Back to Top